आइ केयर ऑपरेशन थिएटर टैकनीशियन कोर्स

Course Description

Eye Care Operation Theater Technician Course.mp4कोर्स का परिचय

ऑपरेशन थिएटर (ओटी) तकनीशियन सर्जिकल टीम के एक महत्वपूर्ण सदस्य हैं। वे ऑपरेटिंग थियेटर और उसके उपकरणों को तैयार और रखरखाव करते हैं, ऑपरेशन के दौरान सर्जिकल टीम की सहायता करते हैं और रिकवरी रूम में मरीजों को सहायता प्रदान करते हैं।

यह कोर्स नेत्रचिकित्सालय और क्लीनिक में काम करने वाले ऑपरेशन थिएटर टैकनीशियन के लिए बनाया गया है|

इसका लक्ष्य ऑपरेशन थिएटर प्रबंधन के महत्वपूर्ण कॉन्सेप्ट्स को सुदृढ़ करना है, जिसमें शामिल है:

  • ओ.टी. को सर्जरी के लिए तैयार करना
  • इन्फेक्शन पर नियंत्रण
  • उपकरणों की देखभाल,इत्यादि|

इसका लक्ष्य नए ओ.टी. टैकनीशियन को ये सिखाना भी है:

  • आँख की सर्जरी वाले मरीजों को संभालना
  • उपयोग होने वाले उपकरण
  • उनकी जिम्मेदारियाँ


इस कोर्स के प्रशिक्षक हैं:

  • डॉ. स्वर्ण चेतन, आई सर्जन, आई क्यू हॉस्पिटल
  • डॉ. शिल्पा गोयल, कैटरेक्ट और स्क्विंट स्पेशलिस्ट, आई क्यू हॉस्पिटल
  • डॉ. ऋषि भरद्वाज, आई सर्जन, आई क्यू हॉस्पिटल
  • डॉ. मानव सचदेव, कैटरेक्ट और रेफ्रेक्टिव सर्जन, आई क्यू हॉस्पिटल
  • शोबा जॉर्ज, बोधीहेल्थ एजुकेशन

Facility: आई क्यू हॉस्पिटल

हम इस  मॉड्यूल के विकास में आई क्यू अस्पताल के कर्मचारियों, विशेष रूप से श्री वी सुरेश कुमार और श्री हरि कुमार कामिल वी के (ओटी क्वालिटी ऑडिटर) और श्री सुंदर सिंह मेहता (ओटी सहायक) के आभारी हैं।

Curriculum

    General
    Pre Quiz
    1. ओ.टी. की प्लैनिंग और मेंटेनेंस
    1. यह मोड्यूल ऑपरेशन थिएटर के मेंटेनेंस में ओ.टी. टैकनीशियन की जिम्मेदारियों पर जोर देगा| यह मोड्यूल बताएगा कि ओ.टी. की सफाई कैसे की जानी चाहिए| इसमें ओ.टी. के कल्चर को लेना भी शामिल है जिससे ये सुनिश्चित हो सके कि कोई इन्फेक्शन नहीं है|

      a.      ओ.टी. की सफाई

      b.      ओ.टी. के कल्चर को लेना


    2. हॉस्पिटल में होने वाले इन्फेक्शन को रोकना
    1. यह मोड्यूल बताएगा कि अस्पताल में इन्फेक्शन कैसे होता है और इसको रोकने के क्या-क्या तरीके हैं| इससे ओ.टी. टैकनीशियन सुरक्षित तरीकों को अपनाएगा जिससे वह खुद को और मरीज को इन्फेक्शन होने से बचा सके|

      इसमें निम्नलिखित विषय हैं:

      स्क्रबिंग, गावनिंग और ग्लविंग


    3. स्टेरेलाइजेशन के तरीके
    1. पोस्ट-सर्जिकल इन्फेक्शन को रोकने का एक तरीका यह भी है कि सर्जरी में स्टेरेलाईज़ उपकरणों का इस्तेमाल किया जाये| यह मोड्यूल स्टेरेलाईज़ेशन के विभिन्न तरीकों के बारे में बताएगा|

      a. ऑटोक्लेव मशीन का उपयोग यह वीडियो स्टेरेलाईज़ेशन के लिए ऑटोक्लेव मशीन का उपयोग करने की विधि का वर्णन करता है

      b. ईटीओ मशीन का उपयोग-यह वीडियो स्टेरेलाईज़ेशन के लिए ईटीओ मशीन का उपयोग करने की विधि का वर्णन करता है



    4. अनेस्थिसिया
    1. अनेस्थिसिया का इस्तेमाल मरीज को आराम दिलाने में और दर्द को नियंत्रण में लाने के लिए किया जाता है जिससे सर्जन सावधानीपूर्वक सर्जरी कर सके| यह ज्ञान ओ.टी.टैकनीशियन को अनेस्थिसिया के लिए सभी सामग्री और दवाइयाँ तैयार रखने में सहायता करेगा| इसमें दो प्रदर्शनात्मक वीडियो हैं|

      1. लोकल अनेस्थिसिया

      2. जनरल अनेस्थिसिया


    1.1 उपकरण की पहचान
    1. यह मोड्यूल ओफ्थेल्मिक सर्जरी में उपयोग होने वाले विभिन्न उपकरणों के बारे में बताएगा:

      a.       केलेजिऑन सर्जरी (Chalazion surgery) – इस वीडियो में केलेजिऑनमें उपयोग होने वाले उपकरणों के बारे में बतायागयाहै|

      b.      बेसिक लिड सर्जरी (Basic lid surgery)

      c.       टेरीजियम(Pterygium)

      d.      डेक्रियोक्रिस्टोराईनोस्टोमी(Dacryocystorhinostomy) (DCR)

      e.      एक्स्ट्राकैप्सुलर कैटरेक्ट एक्सट्रैक्शन (Extracapsular cataract extraction) (ECCS)

      f.        स्माल इन्सिजनकैटरेक्ट सर्जरी (Small Incision Cataract Surgery) (SICS)

      g.       फेकोईमल्सिफ़िकेशनसर्जरी(Phacoemulsification surgery)

      h.      विट्रियोरेटिनल सर्जरी (Vitreoretinal surgery)

      i.         स्लेरलबकलिंग(Scleral buckling)

      j.        स्क्विन्ट(Squint)

    1.2 उपकरणों की सफाई
    1. एक बार सर्जरी हो जाने के बाद, उपकरणों को स्टेरेलाईज़ेशन के लिए भेजने के पहले अच्छी तरह से धो लें|

      इस मोड्यूल में इसके बारे में बताया गया है|


    1.3 उपकरणों और लिनन की पैकिंग
    1. उपकरणों के साफ़ हो जाने के बाद, स्टेरेलाईज़ेशन के लिए भेजने के पहले जरूरी है कि उन्हें पैक किया जाये| लिनन जैसेकि ड्रेप्स, सर्जिकल टॉवल और गाउन को भी उपयोग करने के पहले स्टेरेलाईज़ किया जाता है| इस मोड्यूल में बताया गया है कि उपकरणों और लिनन को सफाई से कैसे पैक किया जाता है|

    1.4 फ़ॉकोमोलासिफिकेशन ट्राली की तैयारी
    1. लगभग सभी नेत्र शल्यचिकित्सा के लिए फ़ॉकोमोलासिफिकेशन मशीन की आवश्यकता होती है। यह वीडियो फ़ैमोसिफिकेशन सर्जरी के लिए ट्रॉली तैयार करने की प्रक्रिया का वर्णन करता है। लगभग सभी सर्जरी के लिए इस प्रक्रिया का पालन किया जाता है।


    2. मरीजों को संभालना
    1. मरीज की सुरक्षा और सर्जरी से सम्बंधित घबराहट को कम करने के लिए मरीज की अच्छी तरह से देखभाल बहूत जरूरी है| यह मोड्यूल आँख की सर्जरी में ऑपरेशन से पहले, ऑपरेशन के समय और उसके बाद मरीज की देखभाल के बारे में बताएगा|

    1. गुणवत्ता आश्वासन और निगरानी
    1. गुणवत्ता आश्वासन और निगरानी सभी स्वास्थ्य देखभाल संगठनों में एक महत्वपूर्ण पहलू बन गया है और इसका उद्देश्य मरीज की देखभाल में सुधार करना है। यह निगरानी निगरानी गतिविधियों है जो कर्मचारियों और संगठन को बेहतर प्रदर्शन करने के लिए जारी करती है ताकि स्थापित मानकों को पूरा किया जा सके।

    2. संचार कौशल
    1. रोगियों के साथ पारस्परिक संबंधों में सुधार लाने में रोगियों के साथ प्रभावी संचार बहुत आवश्यक है और इस प्रकार एक बेहतर परिणाम। रोगियों और उनके परिवार के सदस्यों को बहुत धैर्य और सहानुभूति के साथ निपटा जाना चाहिए। इस मॉड्यूल में संक्षेप में बताया गया है कि कुछ सामान्य दिन-प्रतिदिन स्थिति में रोगियों के साथ प्रभावी संचार कैसे किया जाना चाहिए।


    Post Quiz